Hardware ओर Software मे क्या अंतर है,

Published by sakir hussain on

नमस्कार दोस्तो जेसे की हम सभी को पता है, की computer के लिए दो बहुत important चीज है, hardware ओर Softwear है, अगर computer के अंदर इन दोनों चीजों मेसे कोई एक चीज भी नही है तो computer को चलाना बहुत मुसकिल हो जाता है, Hardware physical peripheral device है,

जिन्हें छुआ और महसूस किया जा सकता है, और Softwear, program, या निर्देश के समूह जो कि प्रकृति में सार हैं computer systam बनाने के लिए शामिल किए गए हैं।

Computer hardware को आसानी से Modified नहीं किया जा सकता है, लेकिन Softwear की आवस्यकता के अनुसार Modified या update किया जा सकता है,

अगर आप लोग hardware ओर softwear मे अंतर क्या है, ये जानना चाहते है तो आप हरी इस पोस्ट को अंतक जरूर पढे, क्योकि आज की इस पोस्ट के अंदर हम आपको 4 बहुत importent जानकारी देने वाले है, जेसे आप नीचे देख सकते है,

Hardware ओर Software मे क्या अंतर है,
Hardware ओर Software मे क्या अंतर है,
  1. Hardware and software comparison chart
  2. Definition of hardware and software
  3. Hardware and software main differences
  4. Hardware and software findings

hardware क्या है,

अब हम जाने गे की hardware क्या है, वोसे तो हमने हार्डवेयर के बारे मे पहले भी बताया हुआ है, लेकिन कुछ जानकी यहा भी देद्ता हु, ताकि आप लोग अच्छी तरहे जान सके, की hardware क्या है,

हार्डवेयर एक कंप्यूटर बनाने वाले Physical component या उपकरण हैं, computer systems या इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में शामिल hardware के विभिन्न उदाहरण mouse, keyboard, joystick, monitor, printer, CPU आदि हैं,

इन्हें hardware कहा जाता है सरल शब्दों में, हम इसे physically रूप से आसानी से देख, छू और महसूस कर सकते हैं। यही कारण है कि हार्डवेयर को एक solid component माना जाता है।

Hardware के उदाहरण

जेसे की हमने बताया था की hardware के कई उदाहरण होते है, जिनमे से मुख्य उदाहरण तीन होते है, Input, output and processing devices.

अब हम जनेगे की Input, output and processing devices. किया होती है,

Input :- कंप्यूटर सिस्टम में mouse, keyboard, joystick, microphone आदि इनपुट देने के लिए इस्तेमाल होने वाले डिवाइस हैं।

Output ;- monitors, speakers जैसे Output को प्रदर्शित करने के लिए बनाए गए डिवाइस आउटपुट डिवाइस होते हैं।

processing devices :- CPU एक processing devices है जो डेटा को प्रोसेस करता है और रिज़ल्ट देता है। CPU में शामिल हैं – ALU (Arithmetic and Logical Unit), CU (Control Unit), Storage Device।

Software क्या है

Software ऐसे directive का सेट होता है जो बताता है कि hardware को क्या काम करना होता है। Software के जैसे OS (Windows), Web browser, games, and word processors शामिल हैं। Software दो तरह के होते हैं – सिस्टिम सॉफ्टवेयर और application software

Software क्यो आवश्यकता

जैसा की हम जानते है Computer, Hardware और Software का समूह है यदि इसमें से Software को निकाल दिया जाये तो Computer एक डिब्बे के समान रह जायेगा यह डिब्बा उस समय तक कार्य नहीं कर सकता जब तक कि इसमें Operating System Software load न किया जाये| इसका अर्थ यह है कि Computer में कुछ भी कार्य करने के लिए Operating System Software का होना आवश्यक है|

हमें operating system software के आलावा कुछ और Software की भी आवश्यकता पड़ती हैं| उदाहरण के लिए, यदि आप एक पत्र को tayping करना अथवा ग्राफिक चार्ट निर्मित करना या एक प्रस्तुतीकरण का निर्माण करना या अपने कार्यालय सम्बन्धी व्यक्तिगत Data का प्रबंधन करना चाहते है तो आपको फिर से अलग-अलग उद्देश्यों के लिए कई अलग-अलग Software की आवश्यकता पड़ेगी जिन्हें अनुप्रयोग Software (Application Software) कहा जाता है |

  1. Software की आवश्यकता
  2. Computer चालू करने के लिए
  3. Tayping करने के लिए
  4. चार्ट का निर्माण करने के लिए
  5. Presentation बनाने के लिए
  6. Data को manage करने के लिए
  7. Internet का प्रयोग करने के लिए

Software के प्रकार

System Software  – ये सॉफ्टवेयर्स हार्डवेयर के साथ सीधे संपर्क स्थापित करके कंप्यूटर में ऑपरेशन करने की सुविधा प्रदान करते हैं। सिस्टम सॉफ़्टवेयर में ऑपरेटिंग सिस्टम, डिवाइस ड्राइवर और सिस्टम उपयोगिताओं शामिल हैं।  Windows, Fedora, Linux, Android, Ubuntu. Similarly, anti-virus softwares, disk compression and cleaner softwares System Software utilities software के अंतर्गत आते हैं। इसके अलावा, डिवाइस ड्राइवर हैं, जिनके लिए हार्डवेयर स्तर पर कुछ डिवाइस के नियंत्रण, प्रबंधन और संचालन की जिम्मेदारी सौंपी जाती है।

Programming Tool  – निर्देशों को कंप्यूटर प्रोग्रामिंग भाषाओं की मदद से लिखा जाता है क्योंकि computer programming की भाषा को नहीं समझता है, इसलिए इन निर्देशों को high level language में लिखा जा सकता है जिसे बाद में मशीन लेवल की भाषा के रूप में परिवर्तित किया जाता है। यह languages translator की आवश्यकता को बढ़ाता है। तो, इसमें C, C ++, Java, पायथन, वगैरह जैसी programming languages शामिल हैं। असेंबलर, कंपाइलर और इंटरप्रिटर लैंग्वेज ट्रांसलेटर और program development tools जैसे कि code editor IDLE इन पायथन के उदाहरण हैं।

Application software– application software के दो variants हैं – सामान्य उद्देश्य सॉफ्टवेयर और अनुकूलित सॉफ्टवेयर। सामान्य-उद्देश्य software को सामान्य कार्य करने के लिए विकसित किया गया है, उदाहरण के लिए, MS Word एक सामान्य-उद्देश्य software है जो प्रत्येक यूजर द्वारा उपयोग किया जाता है। दूसरी ओर, अनुकूलित software हैं, जिन्हें ग्राहक की जरूरतों पर विचार करके बनाया जाता है, जैसे लाइब्रेरी मैनेजमेंट software, खाता मैनेजमेंट software अनुकूलित software का उदाहरण हैं।

Operating systems :- जैसे ubuntu, windows, mac os और customized softwares जैसे कि MS Word, MS Powerpoint, Photoshop CC, GOM player, and browser (, google chrome और Mozilla Firefox) softwares के कुछ उदाहरण हैं।

hardware और software के बीच महत्वपूर्ण अंतर

  1. computer में computer एक ऐसी चीज है जिसे महसूस किया जा सकता है, छुआ और देखा जा सकता है। दूसरी ओर, software programs का एक सेट है जिसे हम देख सकते हैं,
  2. hardware का उद्देश्य machine-level के कार्य को करना है जबकि software hardware को निर्देश देता है।
  3. सॉफ्टवेयर को विभिन्न श्रेणियों जैसे सिस्टम, एप्लिकेशन और प्रोग्रामिंग के तहत वर्गीकृत किया जाता है। जबकि, हार्डवेयर निम्न प्रकार के होते हैं – input, output, processing and storage devices। इन उपकरणों के किसी भी भाग को हार्डवेयर भी कहा जाता है।
  4. CPU, UPS, keyboard, mouse, monitor, speakers, हैं, जो आमतौर पर कंप्यूटर से जुड़े होते हैं। इसके विपरीत, Windows 8, Fedora, Linux, Microsoft Photo, Windows Media Player, आदि सॉफ्टवेयर्स के उदाहरण हैं।

Fina word

इस article में, Hardware ओर Software मे क्या अंतर है, पर चर्चा की है। आशा है कि इस post ने आपकी मदद की है कि आप क्या खोज रहे हैं।

यदि आपके मन में अभी भी कोई सवाल है तो नीचे comment करें। हम आपकी मदद करने के लिए हमेशा मौजूद हैं।

इसके अलावा, अगर आपको किसी अन्य जानकारी की आवश्यकता है, तो हमें cooment अनुभाग में पूछें। हम आपकी मदद जरूर करेंगे। यदि आपके पास हमारे लिए कोई सुझाव है तो कृपया हमें बताएं। हम हमेशा सुधार करने की कोशिश करते हैं।

अगर आपको यह article पसंद आया है, तो कृपया social networking site पर share करें। आप हमें TwitterFacebook and Instagram पर भी देख सकते हैं।

Also Read


sakir hussain

मैं sakir hussain tricksallhindi.com का संस्थापक हूं, जहां Make Money Online, Technology, Blogging, और विभिन्न प्रकार की Tech an Tips पर विचारों और अपने अनुभवों को शेर करना पसंद कर्ता हु। मुझे उम्मीद है की मेरी दी गई जानकारी आप लोगो के लिए help Full होगी,

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *